Latest
current-affairs-news

युद्ध अभ्यास: भारत-अमेरिका का संयुक्त सैन्य अभ्यास राजस्थान में शुरू

फ्रांस और भारत की वायु सेनाओं द्वारा जनवरी,  2021 में राजस्थान में 05 दिनों के संयुक्त अभ्यास के बाद यह कवायद शुरू हुई है. रक्षा प्रवक्ता, लेफ्टिनेंट कर्नल अमिताभ शर्मा के अनुसार, सैन्य से सैन्य विनिमय कार्यक्रमों के एक हिस्से के तौर पर, संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना की टुकड़ी 05 फरवरी को भारतीय सेना के सैनिकों के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास के लिए भारत आएगी.

भारत-पाकिस्तान सीमा के पास आयोजित होने वाले इस संयुक्त सैन्य अभ्यास का उद्देश्य दोनों सेनाओं के बीच अंतर-संचालन क्षमता और सहयोग को बढ़ाना है. यह अभ्यास संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत आतंकवाद-रोधी अभियानों पर भी ध्यान केंद्रित करेगा.

उद्देश्य

भारत-पाकिस्तान सीमा के पास आयोजित होने वाले इस संयुक्त सैन्य अभ्यास का उद्देश्य दोनों सेनाओं के बीच अंतर-संचालन क्षमता और सहयोग को बढ़ाना है. यह अभ्यास संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत आतंकवाद-रोधी अभियानों पर भी ध्यान केंद्रित करेगा.

भारतीय और अमेरिकी सेना का प्रतिनिधित्व

• ‘युद्ध अभ्यास’ में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व जम्मू और कश्मीर राइफल्स की 11 वीं बटालियन द्वारा किया जाएगा, जो दक्षिण पश्चिमी कमान का हिस्सा हैं.
• संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना के प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्व संबंधित ब्रिगेड मुख्यालय के साथ, सेकेंड बटालियन के जवानों और 1-2 स्ट्राइकर ब्रिगेड कॉम्बैट टीम की तीसरी इन्फैंट्री रेजिमेंट द्वारा किया जाएगा.

भारत के लिए अमेरिकी सेना के साथ अभ्यास क्यों महत्वपूर्ण है?

रक्षा प्रवक्ता के अनुसार, इन दोनों देशों, भारत और अमेरिका के सामने आने वाली सुरक्षा चुनौतियों के संदर्भ में संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना के साथ यह अभ्यास बहुत महत्वपूर्ण है.

वर्तमान अभ्यास उत्तरी सीमाओं पर हाल के घटनाक्रमों की पृष्ठभूमि में भी महत्वपूर्ण होगा. दो शक्तिशाली देशों के बीच यह सैन्य अभ्यास उनकी रणनीतिक स्थिति के साथ-साथ भारत-अमेरिका संबंधों के सकारात्मक विकास को भी व्यक्त करेगा.

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *